Nov 10, 2012

मेरे दो अनमोल शहर

बड़ा ज़रूरी बड़े काम का शहर है
यारों जोधपुर तो आराम का शहर है
कूलर -हीटर ,सर्दी- गर्मी
हर मोसम के इंतजाम का शहर है
*
*
*
फिर वही भीड़ वही मंज़र होगा
वहां तो इंसानों का समंदर होगा
*
*
*
लिपस्टिक के दाग जैसा लगता है
मुंबई तेरा रंग कभी उतरेगा नहीं...
Post a Comment

Followers